बिजली कटौती पर आधिकारियों की लापरवाही देख भड़के मंत्री, दे डाली चेतावनी

 बिजली कटौती को लेकर अधिकारियों ने दिया ये तर्क

दरअसल, बार बार मिल रही अघोषित कटौती को लेकर शनिवार को खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के साथ कांग्रेस विधायकों मुन्नाालाल गोयल और प्रवीण पाठक ने बिजली कंपनी के अधिकारियों के साथ मेंटेनेंस व अघोषित कटौती को लेकर बैठक की। जिसमें अधिकारियों ने तर्क दिया कि गर्मी अधिक पड़ रही है। इस वजह से फॉल्ट व ट्रिपिंग अधिक आ रही हैं। अधिकारियों ने बिजली आपूर्ति के आंकड़े भी पेश किए, जिसमें शहर में पर्याप्त सप्लाई बताई।

इस जवाब को लेकर मंत्री व विधायक भड़क गए और उन्होंने कहा कि हमें आंकड़े मत बताओ, हमें भी पता है ये आंकड़े आपके है, क्या भाजपा सरकार के समय नहीं पड़ती थी गर्मी। रोजाना जनता हमें फोन करके बता रही है कि शहर में कितनी बिजली जा रही है। आखिर ऐसा कौन सा कारण, जिसके चलते बार-बार बिजली कटौती की जा रही है। कुछ भी करो, पर अघोषित कटौती नहीं होनी चाहिए। अब बिजली कटौती हुई तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें। इसको लेकर अधिकारियों ने कहा कि 20 जून तक परेशानी खत्म हो जाएगी। क्योंकि मेंटेनेंस का काम पूरा हो जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.