मायावती का बड़ा ऐक्शन: BSP के 6 राज्यों के प्रभारियों समेत दो प्रदेश अध्यक्षों को हटाया

लखनऊ: लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन पर बसपा के 6 राज्यों के प्रभारियों समेत दो प्रदेश अध्यक्षों पर गाज गिरी है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, ओडिशा, गुजरात और राजस्थान के प्रभारी की उनके पद से छुट्टी कर दी है। मायावती ने दिल्ली और मध्य प्रदेश के पार्टी अध्यक्ष को भी हटा दिया है।

इसके साथ ही मायावती ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुरेंद्र सिंह को हटाकर लक्ष्मण सिंह को नया प्रभारी बनाया है। वहीं मध्यप्रदेश में रमाकांत पुत्तल डीपी चौधरी के स्थान पर राज्य के नए पार्टी प्रमुख होंगे। बसपा प्रमुख हार के कारणों का विश्लेषण करने के लिए राजधानी में मौजूद हैं। उन्होंने शनिवार को राज्यों के प्रभारियों और प्रदेश अध्यक्ष की मीटिंग बुलाई थी। जिसमें पार्टी के राज्यवार प्रदर्शन पर चर्चा की गई। बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन उम्मीद के अनुरूप नहीं होने से मायावती काफी नाराज हैं।

उत्तराखंड प्रभारी के पद से आरएस कुशवाहा की छुट्टी
समीक्षा के दौरान उत्तर प्रदेश में पार्टी के अध्यक्ष आरएस कुशवाहा को उत्तराखंड प्रभारी के पद से हटा दिया गया है। उत्तराखंड में एमएल तोमर पार्टी के नए प्रभारी की जिम्मेदारी संभालेंगे। पार्टी की तरफ से ओडिशा-गुजरात के प्रभारी पद से छ_ुराम की छुट्टी हो गई है। उन्हें अब बिहार-झारखंड का प्रभारी बनाया गया है। वहीं पार्टी के पूर्व सांसद बलिराम को बिहार के सेंकेंड इंचार्ज पद से मुक्त कर दिया गया है।

रामअचल राजभर बनाए गए गुजरात और महाराष्ट्र के नए प्रभारी
गुजरात और महाराष्ट्र के नए प्रभारी के रूप में रामअचल राजभर की नियुक्ति की गई है। राजभर इससे पहले बिहार के प्रभारी की भूमिका निभा रहे थे। पार्टी ने राजस्थान में मुनाकद अली की प्रभारी पद से हटा दिया है। मायावती इसके बाद यूपी के जोन इंचार्ज और जिला अध्यक्षों के साथ बैठक करेंगी। बैठक में नव निर्वाचित सांसदों के भी शामिल होने की खबर है। बैठक में संगठन में महत्वपूर्ण फेरबदल किया जा सकता है। इससे पहले मायावती ने उत्तर प्रदेश में महागठबंधन को उम्मीद के अनुरूप सफलता नहीं मिलने पर नाराजगी व्यक्त की।

3 जून को होगी यूपी के प्रभारियों की बैठक 
मायावती 3 जून को यूपी के प्रभारियों के साथ बैठक करेंगी। जिसमें उत्तर प्रदेश के बीएसपी जिलाध्यक्ष, जोन इंचार्ज और सांसदों को बुलाया गया है। इस बैठक में वह हार की समीक्षा करेंगी। सूत्रों के मुताबिक ठीक परमॉर्मेंस न कर पाने वाले नेताओं पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.