लंदन ब्रिज हमला: पाकिस्तानी निकला हमलावर उस्मान, आतंकवादी गतिविधियों के मामले में काट चुका सजा

लंदनः ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज के निकट शुक्रवार को हुई चाकूबाजी में शामिल संदिग्ध  हमलावर उस्मान खान पाकिस्तानी है और 2012 में भी आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तत होने का दोषी पाया गया था। गौरतलब है कि ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज के निकट शुक्रवार को हुई चाकूबाजी की घटना में दो लोग मारे गए थे। वहीं स्कॉटलैंड यार्ड ने फर्जी विस्फोटक जैकेट पहने एक पुरुष संदिग्ध को घटनास्थल पर मार गिराने की पुष्टि की थी। प्रारंभिक सबूतों के अनुसार  लंदन के स्टैफोडर्शाीरे क्षेत्र में रहने वाला उस्मान शुक्रवार दोपहर को लंदन के फिशमोनगेर हॉल में एक बैठक में शामिल हुआ और वहीं से वह हमला करते हुए लंदन ब्रिज तक जा पहुंचा।  पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि व्यक्ति ने किस तरह हमले की योजना बनाई थी।

पुलिस के अनुसार घटना में किसी और के शामिल होने की फिलहाल कोई आशंका नहीं है। स्कॉटलैंड यार्ड के ‘हेड ऑफ काउंटर टेररिज्म पुलिसिंग’ के सहायक आयुक्त नील बसु ने बताया कि उसकी पहचान हो गई है। 2012 में उसे आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तत होने का दोषी पाया गया था और दिसम्बर 2018 में ही उसे जेल से रिहा किया गया ।

जानें कौन है उस्मान खान ?

  • पाकिस्तानी मूल के 28 वर्षीय आतंकी उस्मान खान ने अल-कायदा के आतंकवादी सेल के सदस्य के रूप में ट्रेनिंग ली और 2012 में स्टॉक एक्सचेंज पर हमले की योजना बनाई।
  • लंदन में जन्मे उस्मान का परिवार पाकिस्तान में रहता था और वहीं इसने स्कूल की शिक्षा शुरू की लेकिन किशोरावस्था में पढ़ाई पूरी किए बिना ही स्कूल छोड़ दिया। पाक में वह अपनी अपनी माँ के साथ रहते था।
  • ब्रिटेन लौटने पर उसने इंटरनेट पर कट्टरपंथी इस्लाम का प्रचार करना शुरू किया और आतंकी गतिविधियों में शामिल हो गया।
  • उसने शरिया कानून की स्थापना के लिए पाक अधिकृत कश्मीर में एक मस्जिद के बगल में आतंकी प्रशिक्षण शिविर बनाने के लि अपने परिवार के स्वामित्व वाली भूमि का उपयोग करने की योजना बनाई ।

वहीं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने एक बयान में कहा, ‘‘जांच जारी है। पुलिस पुष्टि कर सकती है कि यह एक आतंकवादी घटना है।” ब्रिटेन के आतंकवाद रोधी अधिकारियों ने जांच अपने हाथ में ले ली है और घटना को आतंकवादी घटना घोषित कर दिया गया है। पुलिस ने ब्रिज की घेराबंदी कर रखी है। लंदन ब्रिज उन इलाकों में से एक है जहां जून 2017 में आईएसआईएस के आतंकी हमले में 11 लोगों की जान गई थी।