हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप, सोची समझी साजिश से दिया था वारदात को अंजाम

हैदराबादः वेटनरी डॉक्टर के साथ हुई गैंगरेप की घटना से सारा देश स्तब्ध हो गया है। वेटनरी डॉक्टर के शव मिल जाने से उसके साथ हुए गैंगरेप का खुलासा हुआ है और पुलिस ने भी उन चार दोषियों को काबू कर लिया है, जिन्होनें इस घटिया वारदात को अंजाम दिया है। इस वारदात में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि ये एक सोची समझी साजिश के तहत हुआ था।

जानकारी के मुताबिक वेटनरी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी घर से शाम 5.50 बजे निकल कर टोंदुपल्ली टोल गेट पर शाम 6 बजे स्कूटर पार्क कर वहीं से गची बोली में अपने क्लीनिक के लिए कैब से निकली। इस बीच वहां खड़े एक ट्रक के साथ मौजूद चार लोगों ने यह साजिश रची। उसके वापस लौटने से पहले ही स्कूटर को पंक्चर कर दिया गया। जब वेटेनरी डॉक्टर वापस लौटी करीब 9 बजे तो उसने देखा कि स्कूटर फ्लैट है। ऐसे में उसे मदद कि ज़रूरत थी। उसने अपनी बहन को फोन कर बताया कि कुछ ट्रक वालों से उसे डर लग रहा है. इस बसी हाईवे पर युवती का मुंह बंद कर उसे ट्रक के पीछे ले जाया गया। वहीं पास में एक ग्राउंड है जहां उसे घसीट कर ले गए और इस घिनौने वारदात को अंजाम दिया। हैरानी वाली बात यह कि इस ग्राउंड में वॉचमैन का घर भी है लेकिन उसने भी इसे नोटिस नहीं किया।