हैदराबाद गैंगरेप: इंसाफ के लिए संसद के बाहर बैठी लड़की, बोली- मैं भी जलूंगी लेकिन लडूंगी

महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों से नाराज एक युवती ने राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार सुबह संसद के बाहर फुटपाथ पर बैठ धरना दिया। उसके हाथ में एक तख्ती थी, जिस पर लिखा था ‘‘ मैं अपने भारत में सुरक्षित क्यों नहीं महसूस करती।

लड़की ने कहा कि मैं सुबह 7 बजे से बैठी हूं। निर्भया हो गया, कठुआ हो गया। छोटी बच्चियों का रेप हो रहा है. आज वो लड़की जली है कल मैं भी जल जाऊंगी, लेकिन मैं लड़ूंगी। अब डरने का मन नहीं करता, अब मन भर गया है। हालांकि कुछ घंटों तक वहां बैठने के बाद पुलिस उसे थाने ले गई। पुलिस ने बताया कि उसे पुलिस थाने ले जाया गया और कुछ अधिकारियों ने युवती के साथ बात की और उसे घर जाने के लिए कहा गया। छात्रा का आरोप है कि उसे 4 घंटे से अधिक वक्त तक पुलिस स्टेशन में रखा गया।

गौरतलब है कि 27 वर्षीय महिला का झुलसा हुआ शव वीरवार को हैदराबाद के पास एक पुलिया के नीचे मिला था। उसे जलाने से पहले उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। इससे पहले रांची में 25 वर्षीय महिला के साथ हथियारों से लैस कुछ पुरुषों के समूह के सामूहिक बलात्कार करने की घटना ने देश को हिला दिया है।