पश्चिम बंगाल उपचुनावः हार के बाद अब भाजपा ने भी उठाए EVM पर सवाल

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में तीन सीटों के विधानसभा उपचुनाव में हार के पीछे भाजपा ने धांधली की आशंका जताते हुए चुनाव आयोग से शिकायत करने की बात कही है। मीडिया से बातचीत के दौरान पश्चिम बंगाल के भाजपा नेता और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने ईवीएम को लेकर संदेह जाहिर करते हुए कहा कि राज्य की मशीनरी ने चुनाव में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस का खुलकर सहयोग किया। इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की जाएगी।

बंगाल उपचुनाव: तृणमूल ने किया प्रतिद्वंद्वियों का सफाया 
आपको बतां दे कि पश्चिम बंगाल में तीन विधानसभा सीटों, कालियागंज, खडग़पुर और करीमपुर के लिए हुए उपचुनाव में सत्तारूढ तृणमूल कांग्रेस ने सभी सीटों पर हासिल कर प्रतिद्वंद्वियों का सूपड़ा साफ कर दिया है। करीमपुर सीट से तृणमूल विधायक महुआ मोइत्रा के लोकसभा के लिए चुने जाने के बाद उन्होंने इस सीट से इस्तीफा दे दिया था। इस वजह से यह सीट खाली हो गई थी। तृणमूल के विमलेंदु सिन्हा रॉय ने भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार को 24119 मतों के अंतर से हराया।
कालियागंज विधानसभा सीट से तृणमूल उम्मीदवार तपन देव सिंघा 2304 मतों के अंतर से विजयी हुए। वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी इस निर्वाचन क्षेत्र से 56 हजार मतों से जीती थी जिसके बाद से यह सीट खाली पड़ी थी। खडग़पुर सदर सीट से तृणमूल के प्रत्याशी प्रदीप सरकार ने भाजपा के प्रेम चंद्र झा को 20,788 मतों के अंतर से हराया। यह सीट भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के लोकसभा के लिए निर्वाचित होने की वजह से खाली हुई थी।