शपथ ग्रहणः शिवाजी पार्क बना अभेद्य किला, पानी तक अंदर ले जाने की इजाजत नहीं

मुंबईः महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर बृहस्पतिवार शाम को शपथ लेने जा रहे शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। इन सुरक्षा इंतजामों के तहत शिवाजी पार्क की सुरक्षा में कम से कम 2,000 पुलिसर्किमयों की तैनाती की गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

यह ऐतिहासिक स्थल आज शाम एक तरह से अभेद्य किले में तब्दील हो जाएगा जहां किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए त्वरित प्रतिक्रिया दल, दंगा रोधी पुलिस, राज्य रिजर्व पुलिस बल, स्थानीय सशस्त्र पुलिस और बम निष्क्रिय दस्ते समेत विभिन्न सुरक्षा बल के कर्मियों की तैनाती की जाएगी।

अधिकारी ने बताया कि दादर इलाके में स्थित विशाल मैदान की निगरानी के लिए श्वान दस्ते की भी तैनाती होगी। उन्होंने बताया कि सादी वर्दी में भी पुलिसर्किमयों को तैनात किया जाएगा। साथ ही कहा कि भीड़ पर नजर रखने के लिए ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने कहा, लोगों को किसी तरह का बैग या पानी की बोतल ले जाने की इजाजत नहीं मिलेगी। पार्क के भीतर जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच की जाएगी।

शिवसेना से जुड़े लोग शिवाजी पार्क से भावनात्मक तौर पर जुड़े हुए हैं क्योंकि यह वह स्थान है जहां पार्टी के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे अपनी दशहरा रैलियों को संबोधित करते थे। इस परंपरा को अब उनके बेटे उद्धव ठाकरे निभा रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) विनोय चौबे समेत पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने समारोह के लिए किए गए सुरक्षा इंतजामों की बुधवार को समीक्षा की।