आम आदमी की थाली से गायब हुआ प्याज, 100 रुपए प्रति किलो पहुंचे दाम

नई दिल्लीः खाने का स्वाद बढ़ाने वाला प्याज आम आदमी की थाली से दूर होता जा रहा है। देश में प्याज की कीमतें लगातार आसमान छू रही हैं। दिल्ली की लोकल सब्जी मंडियों में प्याज 100 रुपए बिक रहा है। कारोबारियों को उम्मीद थी कि अफगानिस्तान से प्याज की खेप आने से राहत मिलेगी लेकिन अफगानिस्तान से आने वाले प्याज की क्वालिटी खराब होने के कारण व्यापारी इसे खरीदने से परहेज कर रहे हैं।

दिल्ली में 100 रुपए पहुंचे प्याज के दाम
दुकानदारों का कहना है कि पहले वे एक दिन में 30-50 किलो प्याज बेच देते थे। आज उन्हें 10 किलो प्याज भी बेचना मुश्किल हो गया है। पिछले तीन दिनों में प्याज की कीमत में 20 से 30 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। प्याज व्यापारियों की मानें तो 15 दिसंबर से पहले प्याज की कीमतों में कमी आने की कोई संभावना नहीं है। दिल्ली में रोज 1500-2000 टन प्याज की आवक हो रही है।

सरकार ने किए हाथ खड़े
वहीं केंद्रीय खाद्य मंत्री राम विलास पासवान ने यह बताने में असमर्थता जताई कि प्याज के दाम कब तक सामान्य होंगे। उन्होंने कहा, ‘यह हमारे हाथ में नहीं है। सरकार अधिकतम प्रयास कर रही है, लेकिन कुदरत से कौन जीत सकता है।’ उन्होंने कहा, ‘रीटेलर्स और होलसेलर्स के लिए स्टॉक होल्डिंग लिमिट अगले आदेश तक बढ़ाई जा रही है।’ यह लिमिट सितंबर में लगाई गई थी। अभी रीटेलर 100 क्विंटल तक और होलसेलर 500 क्विंटल तक प्याज रख सकते हैं।

क्यों बढ़े प्याज के दाम
पासवान ने कहा कि मानसून में विलंब होने और बाद में बेमौसम बरसात की वजह से देश में प्याज के उत्पादन में 26 फीसदी की गिरावट आई। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों की ओर से मांग नहीं आने के कारण बफर स्टॉक में रखा काफी प्याज खराब हो गया। मंत्रालय की ओर से बताए आंकड़े के अनुसार, सरकार ने पिछले दिनों बफर स्टॉक से करीब 57,000 टन प्याज बाजार में उतारा।