गृह मंत्री अमित शाह ने संभाला कार्यभार, राजनाथ ने लिया रक्षा मंत्रालय का चार्ज

नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज देश के गृहमंत्री का कार्यभार संभाल लिया है।  उनके साथ जी किशन रेड्डी भी गृह मंत्रालय में उपस्थित हैं जो कि गृह राज्य मंत्री बनाए गए हैं। गृह मंत्रालय में मौजूद अधिकारियों और कर्मियों ने उनका स्वागत किया। अमित शाह को पहली बार मंत्रिमंडल में जगह मिली है। हालांकि अमित शाह गुजरात सरकार में सात साल तक गृहमंत्री रहे हैं। शाह के कंधों पर अब देश की आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी है।

PunjabKesari

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपने मंत्रालय का पदभार ग्रहण कर लिया है। रक्षा मंत्रालय में राजनाथ सिंह पहली बैठक कर रहे हैं। उनके साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख भी शामिल हैं। सुबह राजनाथ सिंह नेशनल वॉर मेमोरियल गए थे और उन्होंने वहां शहीदों को सलामी दी थी। वहां भी उनके साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख शामिल रहे थे।

राजनाथ सिंह सुबह आठ बजे इंडिया गेट के निकट बने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उनके साथ तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए पुष्प अर्पित किए। इसके बाद सिंह ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में शहीदों की विभिन्न दीर्घाओं को देखा और अधिकारियों के साथ युद्ध स्मारक से संबंधित विषयों पर बातचीत की। सिंह भारतीय भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की पिछली सरकार में गृह मंत्री थे और नई सरकार में उन्हें रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।

PunjabKesari

यह हैं राजनाथ के सामने चुनौती
राजनाथ सिंह के समक्ष ढेरों चुनौतियों में सर्वाधिक महत्वपूर्ण चुनौती तीनों सेवाओं के आधुनिकीकरण के काम में तेजी लाना है। उनके लिए अन्य बड़ी चुनौती चीन के साथ लगी सीमाओं पर शांति बनाए रखने की है। वह रक्षा मंत्री का पद्भार ऐसे समय संभाल रहे हैं जबकि भारत ने तीन महीने पहले पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर हवाई हमला किया और माना जा रहा है कि सीमा पार आतंकवाद से निपटने के लिए भारत इसी नीति पर आगे भी चलेगा। राजनाथ सिंह को सरकार के पहले कार्यकाल में भी टॉप चार मंत्रियों में जगह मिली थी। वह सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री थे। वह 70 के दशक से ही संघ से जुड़े हैं। उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह का करीबी माना जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.