सांसद प्रज्ञा ठाकुर रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति में शामिल, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

भोपाल: भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को केंद्रीय रक्षा मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति में सदस्य बनाया गया है। इस समिति में कुल 21 सदस्य हैं। इस समिति के प्रमुख रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हैं। सरकार ने विपक्ष के कई नेताओं को शामिल किया है। जिसमें शरद पवार और फारूख अब्दुल्ला प्रमुख हैं। वहीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के इस समिति की सदस्य बनाए जाने पर कांग्रेस में खलबली मच गई है। बता दें कि साध्वी पर मालेगांव धमाकों में शामिल होने का आरोप है।

PunjabKesari

मंत्री जयवर्धन सिंह ने बिना नाम लिए साधा साध्वी प्रज्ञा पर निशाना…
वहीं कैबिनेट मंत्री जयवर्धन सिंह ने तंज भरे अंदाज में ट्वीट किया है उन्होंने लिखा है कि ‘नींबू मिर्ची और टोने टोटके वाले अब देश की सुरक्षा पर सलाह देंगे’।

Jaivardhan Singh

@JVSinghINC

संभल कर….
“नींबू-मिर्ची और टोने टोटके वाले अब देश की सुरक्षा पर सलाह देंगे।”

187 people are talking about this
कमलनाथ सरकार ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा ने साध्वी प्रज्ञा को केंद्रीय रक्षा समिति में सदस्य बनाए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ऊपर साध्वी के विवादित बयान को लेकर पीएम मोदी ने कभी यह कहा था कि वह साध्वी को कभी दिल से माफ नहीं करेंगे।

तो फिर यह निर्णय किस आधार पर लिया गया। इसका सीधा मतलब यह निकलता है कि बीजेपी की कथनी और करनी में फर्क है। साध्वी प्रज्ञा के कई विवादित बयान आए थे। उनपर बहुत से आरोप है और प्रकरण भी चल रहे हैं और वह जेल भी गई हैं। रक्षा समिति जैसी इंपोर्टेंट समिति में उनका लिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।