राज्यसभा में पारित हुआ जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक विधेयक

नई दिल्ली: राज्यसभा में जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक (संशोधन) विधेयक मंगलवार को पारित हो गया है। राज्यसभा में लंबी चर्चा के बाद ध्वनिमत के साथ  विधेयक पारित किया गया । केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन अब सरोगेसी विनियमन विधेयक 2019 को विचार के लिए सदन के सामने रख रखा।

PunjabKesari
इससे पहले राज्यसभा में सदस्यों ने शहीद भगत सिंह और जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लेने वाले सरदार उधम सिंह को भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग की। कांग्रेस के प्रताप सिंह बाजवा ने जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक (संशोधन) विधेयक 2019 पर चर्चा के दौरान भगत सिंह को भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग की। बाजवा ने कहा कि जलियांवाला स्मारक न्यास से विन्दर सिंह भून्दर ने भी किया और कहा कि सरदार उधम सिंह को भी भारत रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए। बाजवा ने कहा कि जलियांवाला स्मारक न्यास से कांगेस अध्यक्ष को नहीं हटाया जाना चाहिए और स्थानीय विधायक को भी इसका सदस्य बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जलियांवाला बाग का इतिहास कांग्रेस से जुड़ा है। वर्ष 1919 में अप्रैल महीने में बैसाखी के दिन ब्रिटिश शासन के दौरान जलियांवाला बाग में जनरल डायर के आदेश पर सैंकडों निहत्थे लोगों को गोलियों से भून दिया गया था।