मशहूर पंजाबी कॉमेडियन के साले ने लगाया फंदा, सुसाइड नोट में लिखी वजह

लुधियाना: प्रसिद्ध पंजाबी कॉमेडियन कलाकार जसविंद्र भल्ला के साले ने सोमवार को माडल टाऊन स्थित घर में कथित तौर पर देनदारों से परेशान होकर पंखे से चुन्नी के सहारे फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पता चलते ही घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। पुलिस को मृतक के पास से 1 पेज का सूसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें उसने 3 लोगों को मौत का जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपियों की पहचान कर्ण, हरिंद्र सिंह और त्रिभुवन के रूप में हुई है। सोमवार सुबह बच्चों के स्कूल जाने के बाद लगभग 8.15 बजे पत्नी कालेज पढ़ाने चली गई। घर की निचली मंजिल पर मृतक की बीमार मां उपचाराधीन है और हर समय उसके पास नर्स भी मौजूद रहती है। दोपहर 12.15 बजे मनप्रीत ने पति को कई बार कॉल की लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। घबराकर वह घर वापस आकर पहली मंजिल पर बने कमरे में गई तो पति का शव हवा में झूल रहा था जिसके बाद तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी।

मृतक ने एक आरोपी व आरोपी ने पुलिस को किया था फोन, अधिकारी ने किया इंकार
सूत्रों के अनुसार मरने से पहले आलोक ने जिन लोगों से पैसे लेने थे, उनमें से एक से मोबाइल पर कॉल कर बात की थी। इतना ही नहीं, पैसे न देने के कारण परेशान करने और आत्महत्या के लिए मजबूर करने की भी बात कही जिसके बाद घबराकर आरोपी ने पुलिस कंट्रोल रूम पर कॉल की तो पी.सी.आर. दस्ता घटनास्थल पर पहुंच गया। घर का दरवाजा खटखटाने पर नर्स बाहर आई और उसी ने बताया कि आलोक घर की पहली मंजिल पर अपने कमरे में है। जब पुलिस ने जाकर देखा तो आलोक फंदा लगा चुका था लेकिन थाना प्रभारी इंस्पैक्टर पवन कुमार ने इस बात से इंकार किया है। उन्होंने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम पर ऐसी कोई कॉल होने व पी.सी.आर. दस्ते के मौके पर आने की उन्हें जानकारी नही है। मृतक के फोन की कॉल डिटेल निकलवाई जा रही है जिसके बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

आरोपियों से 50 लाख लेने थे आलोक ने
इंस्पैक्टर पवन कुमार के अनुसार मृतक की पहचान आलोकदीप सिंह (35) के रूप में हुई है। अब तक की जांच में सामने आया है कि आलोक विदेशी बाइक और कारें खरीदने-बेचने का काम करता था। उसकी पत्नी मनप्रीत कौर सरकारी कालेज में लैक्चरार है। आलोक ने उक्त आरोपियों से लगभग 50 लाख रुपए लेने थे। कई बार पैसे मांगने पर भी वे नहीं दे रहे थे जिस कारण वह परेशान चल रहा था।