हवा की रफ्तार ने दिल्ली-NCR को दिलाई राहत, AQI में आई गिरावट

दिल्ली और एनसीआर में रफ्तार से चल रही हवा से लोगों को प्रदूषण से हल्की राहत मिली है। शनिवार की तुलना में रविवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (air quality index) कम है, लेकिन दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर अब भी बना हुआ है। लोधी रोड पर पीएम 2.5 का स्तर 226 और पीएम 10 का स्तर 222 दर्ज किया गया था।

शनिवार सुबह प्रदूषण का स्तर गंभीर था लेकिन दिल्ली समेत बागपत, फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम सहित कई शहरों में सौ प्वाइंट तक गिर गया। इसके बावजूद एक्यूआई अभी भी ‘बहुत खराब’ है। टास्क फोर्स ने एनसीआर में कोल आधारित उद्योगों को प्रदूषण नियंत्रण उपायों की शर्त पर काम शुरू करने की अनुमति दे दी है। जबकि दिल्ली में नॉन पीएनजी औद्योगिक इकाइयां प्रदूषण नियंत्रण उपायों के साथ काम शुरू कर सकती हैं। जबकि हॉट मिक्स प्लांट, क्रशर, रेडी मिक्स प्लांट पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

PunjabKesari

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के डा. वीके सोनी ने बताया कि हवाओं के चलते संभव है कि 18 नवम्बर को एक्यूआई फिर गिरे और बहुत खराब स्तर पर ही रहे। केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सफर के अनुसार अगले दो-तीन दिन हवाएं तेज चलेंगी जिससे राहत रहेगी।