जहरीली और दमघोंटू हुई दिल्ली की हवा, कई इलाकों में प्रदूषण 700 के पार

नई दिल्लीः दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर शुक्रवार को लगातार खतरनाक स्तर पर और आसमान में धुंध छाई रही जिससे यहां रहे लोगों को सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा। हवा में घुले जहर के चलते दिल्ली में सबसे बड़ी हेल्थ इमरजेंसी लग चुकी है। दिल्ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 700 तक पहुंच गया है। द्वारका, पूसा रोड, सत्यवती कॉलेज, पंजाबी बाग में यह 700 तक पहुंच चुका है। वहीं गुड़गांव में कुछ जगह पीएम 2.5 का स्तर 800 पार है। गौरतलब है कि ऑड-ईवन योजना भी आज खत्म हो रही है। दिल्ली के अलावा इसके आसपास के क्षेत्र गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी वायु गुणवत्ता सूचकांक गुरुवार को 700 के ऊपर ही रहा। इन इलाकों में गंदगी भरे धुंध छायी रही।

पंजाब में भी छाए घने बादल
सफर के अनुसार, जहां दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर गंभीर बना हुआ है वहीं पंजाब के ऊपर भी इस समय मौसमी सिस्टम सक्रिय है। इसकी वजह से घने बादल छाए हुए हैं। इसके चलते दिल्ली में भी प्रदूषकों के ऊपर जाने की क्षमता काफी कम हो गई है। हवा की गति भी अभी कम है। इसी वजह से प्रदूषण जानलेवा स्तर पर बढ़ा है।

दिल्ली-एनसीआर और पांजाब समेत में ठंड बढ़ने लगी है। अभी तक सुबह और शाम के समय लोगों को ठिठुरन महसूस हो रही थी, लेकिन अब दिन के समय भी तापमान में कमी आने लगी है। अगले हफ्ते तापमान में 2 से 4 डिग्री की कमी आने की संभावना है। वहीं 19 नवंबर से कोहरे का प्रकोप भी बढ़ने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के अनुसार 18 नवंबर से तापमान में कमी आना शुरू होगी। न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम महज 12 डिग्री तक पहुंच सकता है।