महाराष्ट्र: शिवसेना को झटका, NCP -कांग्रेस बोली, सरकार बनाने पर अभी नहीं हुआ फैसला

मुंबई: कांग्रेस और राकांपा ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना को समर्थन देने के बारे में अभी तक कोई फैसला नहीं किया है, लेकिन वे इस बारे में आगे चर्चा जारी रखेंगे। कांग्रेस नेताओं के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि दोनों दल चर्चा करेंगे और इस बात पर एक सहमति बनाएंगे कि शिवसेना को समर्थन देने के लिए नीतियां और कार्यक्रम क्या होंगे।

PunjabKesari

संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी वेणुगोपाल मौजूद थे। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस मुद्दे पर राकांपा के साथ आगे और चर्चा करने के लिए इन नेताओं को नियुक्त किया है। उन्होंने कहा, ‘हमने (कांग्रेस और राकांपा नेताओं) यह सुनिश्चित करने के लिए कि सरकार का कामकाज आराम से चले (संभावित) न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा की।’

अहमद पटेल ने कहा कि शिवसेना ने समर्थन के लिए आधिकारिक रूप से सोमवार को कांग्रेस-राकांपा से संपर्क किया। शिवसेना द्वारा महाराष्ट्र में गैर-भाजपा सरकार बनाने की कोशिशों को उस समय झटका लगा जब अंतिम समय में कांग्रेस ने कहा कि वह उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी को समर्थन देने के लिए राकांपा के साथ और चर्चा करना चाहती है। इस बीच राज्यपाल बी के कोश्यारी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की, जिसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस आशय के फैसले पर हस्ताक्षर कर दिए।

PunjabKesari
विधायकों से बोले उद्धव, राष्ट्रपति शासन की चिंता मत करिए, सरकार पर दावा कायम है
एनसीपी और कांग्रेस के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी प्रेस कॉंफ्रेंस की। मलाड के होटल रिट्रीट में शिवसेना विधायकों को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि विधायकों को राष्ट्रपति शासन की चिंता नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति शासन की वजह से सरकार बनाने में कोई दिक्कत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि उनकी कांग्रेस और एनसीपी से बात चल रही है, और उन्हें धैर्य रखना चाहिए।

उद्धव ने कहा कि महाराष्ट्र की सरकार पर शिवसेना का दावा कायम है। उद्धव ने कहा कि राष्ट्रपति शासन शिवसेना को राज्य में सरकार बनाने से नहीं रोक सकता है। उद्धव ने कहा कि अगले चार से पांच दिनों में वे राज्य के अकाल प्रभावित इलाकों के दौरे पर निकलेंगे। उन्होंने कहा कि सभी विधायक धैर्य रखें, इस मुद्दे को सुलझा लिया जाएगा और जल्द ही महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार बनाएगी।
PunjabKesari
भाजपा की बनाएंगे सरकार-नारायण राणे

तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भाजपा भी मैदान में आ गई। भाजपा नेता नारायण राणे ने कहा है कि सरकार बनाने के लिए जो भी करना पड़ेगा वो करेंगे। नारायण राणे ने कहा कि शिवसेना को बेवकूफ बनाया जा रहा है, उन्हें नहीं लगता है कि कांग्रेस और एनसीपी उद्धव के साथ आएंगे। राणे ने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार बनाने के लिए उन्हें जो कुछ करना पड़ेगा वो करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वो जब भी राज्यपाल के साथ जाएंगे 145 विधायकों का नाम लेकर जाएंगे। पूर्व शिवसैनिक और उद्धव के प्रतिद्वंदी रहे नारायण राणे ने कहा कि शिवसेना ने ही उन्हें साम-दाम दंड भेद सिखाया है।

राज्य में जल्द बनेगी स्थिर सरकार: फडणवीस
महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने पर निराशा जताई है। उन्होंने कहा कि राज्य की जनता ने स्पष्ट बहुमत दिया है। इसके बावजूद राज्य में किसी की भी पार्टी की सरकार ना बनना और राष्ट्रपति शासन लगना यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य में जल्द ही एक स्थिर सरकार बनेगी। हालांकि उन्होंने ये नहीं कहा कि राज्य में किस पार्टी की सरकार बनेगी।