अदालती आदेश को नजरअंदाज कर पुलिस कर रही कार्यवाही

अब पुलिसिया कार्यवाही के दबाव से नवबहार में दखल

-अदालती आदेश को नजरअंदाज कर पुलिस कर रही कार्यवाही

भोपाल ब्यूरो
राजधानी स्थित वक्फ की एक बेशकीमती जमीन पर कब्जा जताने के लिए अब कानूनी पेंचीदगियों का सहारा लिया जा रहा है। इस दौरान अदालत के उस आदेश को भी धता दिखाया जा रहा है, जिसमें न्यायालय ने वक्फ प्रबंधन कमेटी को काम करते रहने के लिए निर्देशित किया है।
हमीदिया रोड़ स्थित वक्फ अकब कब्रिस्तान की 6 एकड़ से ज्यादा जमीन के आधिपत्य को लेकर लम्बे समय से विवाद जारी है। जहाँ नगर निगम इसको अपनी सम्पत्ति बता रहा है, वहीं मप्र वक्फ बोर्ड इस जायदाद से सम्बंधित समस्त दस्तावेज हर जाँच में पेश कर चुका है। बोर्ड ने इस जायदाद की देखरेख के लिए एक प्रबंधन कमेटी भी गठित की है। नगर निगम इस जमीन पर स्थित नवबहार सब्जी मंडी में बिना अधिकार तहबाजारी की वसूली कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि निगम पिछले 40 बरस से यहां से करोड़ों रुपए की अवैध वसूली कर चुका है।

अब बन रहे विवाद के हालात
वक्फ प्रबंधन कमेटी द्वारा नवबहार सब्जी मंडी के अपना काम सम्हालने के समय से ही यहां नगर निगम और कमेटी के बीच विवाद के हालात बन रहे हैं। नगर निगम कमेटी के कामों को रोकने के लिए लगातार पुलिस का सहारा ले रही है। इस दौरान निगम अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा प्रबंधन कमेटी के पदाधिकारियों के खिलाफ लगातार झूठी और बेबुनियाद शिकायते की जा रही हैं।

हुआ सारे दिन हंगामा
निगम की तहबाजारी वसूली रुकने के बाद निगम विद्रोह की स्थिति में आ गया है। बताया जाता है कि मंगलवार को इस मामले को लेकर थाना हनुमानगंज ने वक्फ प्रबंधन कमेटी के ओहदेदारों को तलब किया और नवबहार सब्जी मंडी में निगम की तहबाजारी में बाधा डालने से रुकने के लिए कहा। कमेटी द्वारा वक्फ से जारी अधिकार पत्र और अदालत से हुए आदेश का हवाला देने के बाद भी इन लोगों पर एफआईआर दर्ज करने के लिए धमकाया जाता रहा। दस्तावेज पेश करने के बाद थाने से कमेटी मेम्बरों को जाने के लिए कह दिया गया लेकिन साथ ही इस बात की ताकीद की गई है कि भविष्य में निगम की कार्यवाही में वक्फ प्रबंधन कमेटी हस्तक्षेप न करे।

वक्फ बोर्ड दे दखल
वक्फ प्रबंधन कमेटी ने बोर्ड प्रशासक से मांग की है कि नवबहार सब्जी मंडी की वक्फ सम्पत्ति को लेकर शासन-प्रशासन के समक्ष स्थिति स्पष्ट करें। कमेटी मेम्बरों ने आरोप लगाया है कि हनुमानगंज थाना पुलिस निगम के दबाव में आकर एक पक्षीय और अवैधानिक कार्यवाही कर रही है। उन्होंने कहा कि निगम की अवैध वसूली को लेकर वे भी कई बार थाने में शिकायत कर चुके हैं लेकिन पुलिस इसके खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है। उन्होंने पुलिस कार्यवाही को अदालत की अवमानना भी बताया है।
——————-

Leave A Reply

Your email address will not be published.