MOVIE REVIEW: जबरदस्त कॉमेडी के साथ खुद से प्यार करना सिखाती है ‘उजड़ा चमन’

फिल्म – उजड़ा चमन/Ujda Chaman
निर्देशक – अभिषेक पाठक/Abhishek Pathak
स्टारकास्ट – सनी सिंह (sunny Singh), मानवी गगरू (Maanvi Gagroo), सौरभ शुक्ला (Saurabh shukla)
रेटिंग – 3/5 स्टार

 नई दिल्ली। कहा जाता है जब किसी से प्यार होता है तो वह सूरत नहीं सीरत देखता है। लेकिन आज के जमाने में मोहब्बत दिल से नहीं बल्कि चेहरा देख कर की जाती है। वहीं फिल्म के डायरेक्टर अभिषेक पाठक ने दर्शकों के सामने ऐसे ही एक गंभीर मुद्दे को कॉमेडी के जरिए बड़ी खूबसूरती से पेश किया है, जिसका नाम ‘उजड़ा चमन’ है।

फिल्म आज 1 नवम्बर को सभी सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। फिल्म की कहानी गंजेपन पर आधारित है जिसमें ‘प्यार का पंचनामा’ फेम सनी सिंह लीड रोल में नजर आ रहे हैं। वहीं उनके अपोजिट मानवी गगरू को कास्ट किया गया है।

कहानी
दिल्ली के रहने वाले चमन कोहली (सनी सिंह) की दुखभरी स्टोरी को फिल्म में दर्शाया गया है। जोकि दिल्ली यूनिवर्सीटी के प्रोफेसर होते हैं। वहीं 30 साल के हो चुके चमन अपनी जिंदगी में बहुत बड़ी परेशानी से गुजर रहे होते हैं जोकि उनका गंजापन होता है। जी हां, अपने गंजेपन की वजह से कोई भी लड़की उन्हें भाव नहीं देती और ना ही उनसे शादी करने के लिए राजी होती है। इस वजह से वो हर जगह हंसी का पात्र बनते हैं।

ऐसे में एक ज्योतिषी गुरु जी उन्हें यह कह देता है कि अगर 31 की उम्र से पहले चमन की शादी ना हुई तो वह संन्यासी हो जाएगा। वहीं गुरू जी की इन बातों से और भी परेशान चमन अपने लिए कॉलेज की कुलीग से लेकर दोस्त की शादी में आई लड़कियों, सब पर चांस मारना शुरु कर देता है। लेकिन अफसोस कहीं बात नहीं बनती है।

इसके बाद आता है कहानी में जबरदस्त ट्विस्ट जब चमन को टिंडर पर एक अप्सरा (मानवी गगरू) नाम की एक लड़की मिलती है जो उन्हें मिलने के लिए बुलाती है। लेकिन अप्सरा के मोटापे की वजह से वह चमन के ख्वाबों की अप्सरा नहीं बन पाती है और चमन उसे रिजेक्ट कर देता है। लेकिन अप्सरा चमन से शादी तक करने को तैयार हो जाती है। अब क्या चमन अप्सरा से शादी करेगा या जिंदगी भर के लिए संन्यासी बन जाएगा। ये सब जानने के लिए आपको थिएटर तक जाना होगा।

एक्टिंग
अपने भोलेपन और बेहतरीन एक्टिंग से सनी ने दर्शकों को खूब एंटरटेन किया है। वहीं मानवी गगरू ने भी अपने किरदार के साथ न्याय किया है। वहीं लंबे समय से इंडस्ट्री में अपनी बेहतरीन एक्टिंग से दर्शकों को एंटरटेन करते आ रहे सौरभ शुक्ला ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि कॉमेडी के मामले में उनका मुकाबला नहीं।

डायरेक्शन
अभिषेक पाठक ने आजकल की समस्या पर यह फिल्म बनाया है जिसे उन्होंने कॉमेडी के जरिए काफी अच्छे से बड़े पर्दे पर परोसा है। वहीं उन्होंने फिल्म में नए पंच भी डाले हैं जिसे दर्शक बेहद पसंद करेंगे। इसके साथ ही मूवी एक खूबसूरत मैसेज भी दे रही है।

गानें
फिल्म के सभी गाने सिचुएशन के हिसाब से सही है जोकि आपको पसंद आएंगे।