NCRB- 2017: देशभर में आत्महत्याओं के मामले में महाराष्ट्र के बाद मध्यप्रदेश दूसरे नंबर पर

भोपाल: एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के बाद मध्यप्रदेश ऐसा राज्य है, जहां सर्वाधिक लोग आत्महत्या कर रहे हैं। 2017 में देशभर में 8129 लोगों ने आत्महत्या की थी। इसमें सर्वाधिक 1488 लोग महाराष्ट्र के थे। इसके बाद दूसरे नंबर पर मप्र है, यहां 968 लोगों ने आत्महत्याएं की। मप्र में आत्महत्या करने वालों में 707 महिलाएं थीं, जबकि पुरुषों की संख्या 261 ही थी। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के मुताबिक महाराष्ट्र में भी आत्महत्या करने वाले 1488 लोगों में 951 महिलाएं ही थीं।

वहीं 2016 में भी महिलाओं की सर्वाधिक आत्महत्याएं महाराष्ट्र और मप्र में ही दर्ज हुई थीं। तब महाराष्ट्र में 768 और मप्र में 565 महिलाओं ने आत्महत्याएं की थी। वर्ष 2017 में मप्र में 59 लोगों ने आत्महत्या के गंभीर प्रयास किए, लेकिन समझाने के बाद उनकी जान बचा ली गई। एनसीआरबी के मुताबिक मप्र में क्रूड सुसाइड रेट 1.2% है, जो देश में तीसरे स्थान पर है। मप्र पुलिस ने 2017 में आत्महत्या से जुड़े केसों में 1020 लोगों की गिरफ्तारियां भी की, लेकिन आत्महत्या के प्रयास में असफल लोगों में से किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया।

मप्र-महाराष्ट्र में आत्महत्याओं की संख्या सर्वाधिक होने का बड़ा कारण किसानों की आत्महत्याएं भी हैं। मप्र और महाराष्ट्र में आत्महत्याओं की संख्या सर्वाधिक होने के बड़ा कारण किसानों की आत्महत्याएं भी हैं। 2017 में मप्र में दो बार किसान आंदोलन हुए। किसान आंदोलन के दौरान बहुचर्चित मंदसौर गोलीकांड भी वर्ष 2017 (6 जून) में ही हुआ था।

देश के 6 राज्य जहां सर्वाधिक लोगों ने की आत्महत्या

राज्य                  कुल                आत्महत्या के
आत्महत्या 
          असफल प्रयास
महाराष्ट्र             1488                 246
मध्यप्रदेश           968                   59
आंध्रप्रदेश          707                  376
तेलंगाना            664                  177
उत्तरप्रदेश         625                   33
प. बंगाल           580                   0
देशभर में कुल   8129               1944