डाक्टर के घर मे घुसकर मारपीट कर की लूट, पुलिस की गाड़ी का सायरन सुन भागे बदमाश

भोपाल: बैरसिया इलाके में रहने वाले एक डॉक्टर परिवार पर हथियारबंद बदमाशों ने हमला कर दिया। बदमाश डॉक्टर और उनकी पत्नी को घायल कर जेवरात और नकदी छीन ले गए। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस का सायरन सुनकर बदमाश मौके से भाग निकले। दोनों का प्राथामिक उपचार कराने के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ साधारण मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है। घटना के तीसरे दिन सफाई के दौरान डॉक्टर के घर से एक कारतूस मिला, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। यह कारतूस छीनाझपटी के दौरान बदमाश के कट्टे गिरा था।

जानकारी के अनुसार विश्वजीत सरकार तिरुपति कालोनी सेमरा रोड बैरसिया में रहते हैं और डॉक्टरी करते हैं। उन्होंने बताया कि शनिवार की शाम को पूरा परिवार घर पर ही था। वह एक कमरे की लाइट ठीक कर रहे थे, जबकि पत्नी रूपा सरकार किचन में चाय बना रहीं थी। दोनों बेटियां रूबी, रानी और बेटा रुद्र टीवी देख रहे थे। विश्वजीत ने बताया कि शाम करीब सवा सात बजे दो बदमाश हथियार लेकर उनके घर में घुस गए। उन्होंने विरोध किया तो कहने लगे की आवाज निकाली तो जान से खत्म कर देंगे। विश्वजीत उनके हथियार छुड़ाने लगे तो दोनों ने उन पर हमला कर दिया। आवाज सुनकर पत्नी रूपा बचाने पहुंची तो उनके साथ भी मारपीट कर दी और कान के टाप्ट तथा गले से मंगलसूत्र छीन लिया। इसी बीच बाहर खड़े दो अन्य बदमाश भी घर के अंदर दाखिल हो गए। चारों ने परिवार वालों के साथ हथियार की दम पर मारपीट की और जेवरात छीन लिये। इसी बीच बेटी ने डायल 100 को फोन लगाया। कुछ देर बाद जैसे ही डायल 100 मौके पर पहुंची, उसका सायरन सुनकर चारों बदमाश भाग निकले। आरोपी उनका मोबाइल फोन भी छीन ले गए। पुलिस ने घायलों को अस्पताल ले जाकर उनका इलाज कराया और उसके बाद डॉक्टर ने थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस घर में घुसकर मारपीट करने का मामला दर्ज किया है
विश्वजीत के मुताबिक वह दोनों बदमाशों से भिड़ गए थे। बदमाशों ने उन पर हमला किया तो उन्होंने भी एक बदमाश को मुक्के मारे, जिससे उसके चेहरे पर गंभीर चोट पहुंची होगी। उसी के चिल्लाने पर बाहर खड़े साथी अंदर पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि जिस वक्त पुलिस पहुंची, उस वक्त बदमाश भाग रहे थे, लेकिन पुलिस ने पहले उन्हें इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया।
सफाई के दौरान तीसरे दिन मिला कारतूस 
सोमवार की सुबह डॉक्टर के परिजन घर में साफ-सफाई कर रहे थे, इसी दौरान सोफे के नीचे उन्हें एक कारतूस पड़ा मिला। उन्होंने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी, जिसके बाद घर पहुंची पुलिस ने कारतूस जब्त कर लिया। डॉक्टर ने बताया कि एक बदमाश के हाथ में कट्टा था। उससे उनकी झूमाझटकी हुई थी, तभी यह कारतूस जमीन पर गिरा होगा। मामले की जांच कर रहे SI साहब सिंह इवने ने बताया कि फिलहाल मारपीट करने वाले आरोपियों का कोई पता नहीं चल पाया है। आरोपियों की उम्र 18 से 22 साल बताई गई है। वह स्थानीय भाषा में ही बातचीत कर रहे थे। पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि वारदात का कारण क्या रहा होगा। क्योंकि शाम को सवा सात बजे लूटपाट वाली कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही है।