अमित शाह के बाद जेपी नड्डा हो सकते हैं भाजपा अध्यक्ष

मोदी सरकार का आज शपथ ग्रहण राष्ट्रपति भवन में होगा। ऐसे में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का मोदी कैबिनेट में शामिल होना तय माना जा रहा है। शाह के सरकार में शामिल होने के बाद भाजपा अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी जेपी नड्डा को सौंपी जा सकती। लोकसभा चुनाव में नड्डा को यूपी का प्रभारी बनाया गया था, जहां पार्टी ने 62 सीटें जीती हैं। अमित शाह ने 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां पार्टी को 71 सीटें दिलाई थीं।
2014 लोकसभा चुनाव के दौरान अमित शाह को भाजपा ने उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था। उस वक्त राजनाथ सिंह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। हालांकि, सरकार आने के बाद उन्होंने यह पद छोड़ दिया था, इसके बाद शाह को पार्टी अध्यक्ष बनाया गया था।
सूत्रों के मुताबिक, मोदी सरकार 10 जुलाई को केंद्रीय बजट पेश कर सकती है। इसके कुछ समय महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में आगे की चुनावी रणनीति जेपी नड्डा देखेंगे। संभावनाएं हैं कि जम्मू-कश्मीर और कर्नाटक में जहां गठबंधन सरकार खतरे में नजर आ रही है, वहां भी चुनाव हो सकते हैं। इसके अगले साल की शुरूआत में दिल्ली में चुनाव होंगे।
नड्डा ब्राह्मण परिवार से हैं और राज्यसभा से सांसद हैं। वे भाजपा के संसदीय बोर्ड के सचिव भी हैं। नड्डा पार्टी के लिए कुशल रणनीति बनाने के लिए जाने जाते हैं। उन्हें इस चुनाव में उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी। यहां, सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद बाजपा को 80 में से 62 सीटों पर जीत मिली, जबकि सहयोगी अपना दल ने 2 सीटों पर जीत दर्ज की है।
जेपी नड्डा ने पटना से बीए की पढ़ाई की है, इसके बाद उन्होंने हिमाचल से एलएलबी की। वे हिमाचल से तीन बार विधायक भी रहे। 2014 में उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया गया। नड्डा का मुख्य फोकस दक्षिण के राज्यों में भाजपा का जनाधार बढ़ाने पर हो सकता है। यहां, तेलंगाना में भाजपा ने 4 और कर्नाटक में 23 पर जीत हासिल की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.