हरियाणा चुनाव में दामाद चिरंजीव की जीत ने लालू-राबड़ी के घर दी दिवाली की खुशियां

रेवाड़ी।  Haryana Assembly Election 2019: हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के तहत 24 अक्टूबर को 90 सीटों पर आए परिणाम ने जहां एक ओर विपक्ष का निराश किया है, लेकिन सैकड़ों किलोमीटर दूर बिहार राज्य के राष्ट्रीय जनता दल पार्टी को बड़ी सौगात दी है। दरअसल, लंबे समय से राजनीतिक और पारिवारिक स्तर पर तकलीफों का सामने कर रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव व राबड़ी देवी के घर पर रेवाड़ी की जीत ने लंबे समय के बाद खुशियां लौटाने का काम किया है।

रेवाड़ी में कांग्रेस की टिकट पर लालू प्रसाद यादव के दामाद चिरंजीव राव ने अपने प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी सुनील यादव का हराकर जीत हासिल की है। बता दें कि चिरंजीव, लालू यादव की बेटी अनुष्का के पति तथा पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव के पुत्र हैं।

चिरंजीव राव ने अपने दादा व पिता की परंपरा को कायम रखते हुए पहले ही चुनाव में जीत हासिल की है। चिरंजीव के दादा स्व. राव अभय सिंह व पिता कैप्टन अजय सिंह यादव दोनों ने ही अपनी राजनीतिक पारी की शुरूआत जीत के साथ की थी और अब परिवार की तीसरी पीढ़ी ने इसे दोहराया है। चिरंजीव की जीत में उनके ससुराल का योगदान भी कम नहीं रहा। नामांकन वाले दिन चिरंजीव के साले व बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव रेवाड़ी आए थे।

तेजस्वी ने भी दावा किया था कि उनके जीजा चिरंजीव राव इस चुनाव में जीत हासिल करेंगे। वहीं अपने दामाद की जीत सुनिश्चित करने के लिए राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अपने करीबी और विश्वस्त भोला यादव को जिम्मा सौंपा था। यही वजह थी कि दरभंगा के विधायक और लालू प्रसाद यादव के हनुमान कहे जाने वाले भोला यादव ने तीन दिनों तक रेवाड़ी विधानसभा क्षेत्र में रह कर लालू के दामाद चिरंजीव के लिए चुनाव प्रचार किया था। जिले में पूर्वांचल के हजारों वोटर हैं।