जेल में डेरा प्रमुख की जान को खतरा!

चंडीगढ़ (हांडा): डेरा प्रमुख की जान को जेल में खतरा है इसलिए जेल के भीतर सुरक्षा में रखा जाए या शिफ्ट किया जाए। आरोप ये भी हैं कि हरियाणा विधानसभा चुनाव को लेकर एक राजनीतिक पार्टी के नेता ने पार्टी विशेष को समर्थन का दबाव भी बनाया था। डेरे के अस्पताल के एक डाक्टर मोहित गुप्ता ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर उक्त बातें कही हैं।

याचिका में आरोप लगाया है कि सुनारिया जेल में डेरा प्रमुख की जान को खतरा है। याचिका में उन्हें कोर्ट में पेश करने की मांग भी की गई है। याचिका में आरोप लगाया गया कि जेल प्रशासन मिलने भी नहीं दे रहा है और नियम के तहत फोन करने की सुविधा भी नहीं दी जा रही। इस बाबत सूचना के अधिकार के तहत जेल नियमों की जानकारी मांगी थी कि एक कैदी के क्या अधिकार हैं लेकिन नहीं दी गई। जेल सुपरिंटैंडैंट के चालक का पिता जो जेल के बाहर चाय की दुकान चलाता है, का हवाला देकर बताया कि जेल में डेरा प्रमुख को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताडि़त किया जा रहा है।याचिका में बताया गया कि जेल कहने को तो सुरक्षित जेल है लेकिन एक साल में दर्जनों गैंगस्टर से फोन मिलने की घटनाओं समेत बड़े अपराधियों को जेल में रखा जा रहा है जो डेरा प्रमुख के लिए खतरे से कम नहीं है। यह भी आरोप लगाया गया कि लोकसभा चुनाव दौरान एक पार्टी के नेता ने उनकी पार्टी को समर्थन देने का भी दबाव बनाया था। मंगलवार को याचिकाकत्र्ता ने चीफ जस्टिस से आग्रह किया कि याचिका पर जल्द सुनवाई की जाए।