अयोध्या में राम मंदिर के लिए ऐसी अनूठी श्रद्धा, पानी के अंदर बैठकर सुंदरकाण्ड का पाठ

धार: अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट कभी भी फैसला सुना सकता है। वहीं देशभर में राम मंदिर के निर्माण को लेकर अलग-अलग तरीके से तैयारियां शुरू हो गई हैं।

धार के एक राम भक्त ने फैसला राम मंदिर के पक्ष में आए इसके लिए देवी सागर तालाब में तैरते हुए सुंदरकाण्ड का पाठ किया। पेशे से सरकारी शिक्षक अशोक दायमा राम भक्त हैं और उनकी मनोकामना है कि अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बने। इसलिए उन्होंने एक हाथ में भगवा ध्वज लेकर और बीच-बीच में शंख की ध्वनि निकालते हुए सुंदरकाण्ड का पाठ किया।

अशोक दायमा का मानना है कि हनुमान जी सबके काज करते है और सुंदरकाण्ड भी इसीलिए किया जा रहा है। इसके बाद वे अयोध्या भी जाकर राम मंदिर के फैसले के समर्थन में सरयु नदी में भी सुंदरकाण्ड का पाठ करेंगे। इतना ही नहीं जब तक राम मंदिर का फैसला नहीं आ जाता। तब तक रोजाना पानी में अलग-अलग स्थानों पर सुंदरकाण्ड का पाठ करेंगे।

गौरतलब है कि अयोध्या में बावरी विध्वंस के बाद से विवादित जमीन को लेकर हिंदू-मुस्लिम पक्षकारों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ ने सालों से चल आ रहे इस मसले पर 40 दिनों में सुनवाई पूरी की है। अब पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ही टिकी हुई है, जो वर्तमान चीफ जस्टिस रंजन गोगाई के सेवानिवृत्त होने से पहले कभी भी आ सकता है।