मैदा-राई से बनायी जा रही थी नकली हींग, बदबू ऐसी कि सांस लेना भी मुश्किल, मालिक फरार

इंदौर: मध्यप्रदेश इंदौर में STF की टीम ने ने सोमवार को पालदा में मिलावटी हींग बनाने की फैक्ट्री पर छापा मारा। हींग फैक्ट्री मालिक के पास कारखाने का लाइसेंस भी नहीं था। यहां अलग-अलग ब्रांड के नाम से हींग बनायी जा रही थी। पूरी फैक्ट्री में इतनी बदबू फैली थी कि खड़ा रहना भी मुश्किल हो रहा था। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री मालिक को पहले पुष्प ब्रांड के मसालों का अच्छा सेल्स करने पर इनाम मिला था, इसी के बाद जितेंद्र ने एक नया पुष्पक ब्रांड तैयार कर हींग बेचना शुरू कर दिया।

मामले को लेकर STF चीफ पद्मविलोचन शुक्ला का कहना है कि यहां के पालदा इलाके के बारदान मंडी में मकान की पहली मंजिल पर रितिशा ट्रेडिंग कार्पोरेशन में मिलावटी हींग का निर्माण हो रहा था। इसका मालिक जितेंद्र शर्मा निवासी जानकी नगर है। लंबे समय से मिल रही शिकायत के बाद STF की टीम ने बारदान मंडी पालदा नाका पर रितिशा ट्रेडिंग कॉर्पोरेशन नाम की फैक्ट्री पर छापा मारा। फैक्ट्री में टॉपकिंग और पुष्पक ब्रांड के नाम से हींग बनाई जा रही थी। नकली हींग बनाने के लिए मैदा, राई की दाल और गोंद का इस्तेमाल किया जा रहा था। हींग की महक के लिए उसमें एसेंस डाला जा रहा था। कार्रवाई के दौरान जब मौके पर मौजूद स्टाफ से लाइसेंस मागा गया तो वो नहीं दे पाए।

बता दें कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के आने के बाद से मिलावट के ख़िलाफ लगातार सख्त अभियान चलाया जा रहा है। मिलावटखोरों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश भर में अब तक कुल 31 मिलावटखोरों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जा रही है।