महाराष्ट्रः किसके सिर सजेगा CM का ताज, कल EVM में कैद होगी उम्मीदवारों की किस्मत

महाराष्ट्रः महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार को वोटिंग होगी और इसके साथ ही उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो जाएगी। वहीं महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए 21 अक्तूबर को होने वाले मतदान के लिए राज्य पुलिस पूरी तरह तैयार है। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बार कुल 3239 उम्मीदवार चुनाव मैदान मे हैं जिनमें 150 महिला उम्मीदवार भी अपनी किस्मत आजमा रही हैं। राज्य में इस बार मुख्य मुकाबला भाजपा-शिवसेना-रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) की महागठबंधन और कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के बीच है। 24 अक्तूबर को मतों की गिनती की जाएगी।

वहीं इतिहास में पहली बार ठाकरे के परिवार कोई सदस्य चुनावी मैदान में उतरा है। बाला साहेब ठाकरे के पोते और उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे इस बार चुनाव लड़ रहे है जिस कारण विधानसभा चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है। दरअसल अगर आदित्य चुनाव जीतते हैं तो शिवसेना मुख्यमंत्री या फिर उपमुख्यमंत्री पद की मांग कर सकती है। शिवसेना पहले भी कह चुकी है कि अग भाजपा गठबंधन की जीत होती है तो अढ़ाई साल के लिए शिवसेना का और अढ़ाई साल के लिए भाजपा का मुख्यमंत्री राज्य में पदभार संभालेगा और अगर इस पर सहमति नहीं बनती है तो भाजपा की सहयोगी पार्टी डिप्टी सीएम का पद मांग सकती है।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
राज्य में तीन लाख से अधिक पुलिसकर्मियों और केन्द्रीय बलों को तैनात किया जा रहा है। अधिकारी ने कहा कि शांतिपूर्ण मतदान के लिए पूरे राज्य में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की जा रही है। विशेष पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) मिलिंद भरांबे ने कहा कि नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली जिले में ड्रोनों के साथ-साथ कम से कम तीन हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य पुलिस के दो लाख पुलिसकर्मियों के अलावा सीआईएसएफ, सीआरपीएफ और नगालैंड महिला पुलिस बल की 350 कंपनियों को भी तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य आरक्षित पुलिस बल की कम से कम 100 कंपनियों और राज्य होमगार्ड के 45,000 जवानों को 24 घंटे की ड्यूटी पर तैनात किया गया है। अधिकारी ने कहा कि अन्य राज्यों के 20,000 होमगार्ड जवानों को भी तैनात करने की मांग की गई है।