शर्मनाक ! सरकारी अस्पताल में जंजीरों से बांधकर महिला का इलाज, बेहतर सुविधाओं के दावे हवा-हवाई

छतरपुर: जिले के सरकारी अस्पताल में इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक और किस्सा सामने आया है। यहां एक महिला को जंजीरों से बांधकर उसका इलाज किया जा रहा है, जो कई दिनों से यूं ही बंधक बनकर इलाज करवा रही है।
हैरत की बात तो ये है कि जिला अस्पताल की चौथी मंजिल में सर्जिकल वार्ड में भर्ती महिला वार्ड में नहीं बल्कि बरामदे में जमीन पर ही इलाज करवा रही है। इसे पलंग सहित और अन्य सुविधाओं से भी वंचित रखा गया है।

जानकारी के मुताबिक सरवई थाना क्षेत्र की गोयरा गांव निवासी 45 वर्षीय महिला रानू शुक्ला है। जो 24 घंटे जंज़ीरों से बंधी रहती हैं और यूं ही इनका इलाज़ हो रहा है। परिजनों और स्टाफ की मानें तो अगर हम उसे बांधकर कर नहीं रखेंगे तो वह यहां-वहां भाग जाती और हंगामा करती है, जिससे उन्हें और बाकी मरीजों समेत स्टाफ को परेशानी होती है। ऐसे में मजबूरन बाजार से जानवर बांधने की जंजीर और ताला लाया गया है और रानू शुक्ला को अस्पताल के बरामदे में रेलिंग के पोल से बांधकर रखा गया है।