ISIS आतंकियों के निशाने पर थे कमलेश तिवारी, सूरत से निकला ये कनेक्शन

हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेस तिवारी की हत्या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। इस बात की जानकारी मिली है कि कमलेश तिवारी ISIS के आतंकियों के निशाने पर भी थे। 2017 में गुजरात एटेस ने ISIS के उबैद मिर्जा और कासिम को गिरफ्तार किया था। गुजरात एटीएस के अलावा सेंट्रल एजेंसी ने भी आतंकियों से पूछताछ की थी। दोनों आतंकियों ने पूछताछ में कमलेश तिवारी का नाम लिया था।

भगवा कपड़े पहने हमलावर मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर आए खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में मिलने आए थे। जांच में पता चला कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में इस्तेमाल मिठाई का डिब्बा 16 अक्टूबर को सूरत की मिठाई के दुकान से खरीदा गया था। पुलिस मामले में आतंकी कनेक्शन की जांच में जुटी है।

गुजरात ATS के पास मौजूद हैं सबूत
कमलेश तिवारी के नौकर स्वराष्ट्रजीत सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया कि हमलावरों ने आने से पहले 10 मिनट तक तिवारी जी से फोन पर बात की। उसके बाद जब हमलावर दफ्तर में आए तो उस वक्त सिक्योरिटी गार्ड सोया हुआ था। जिसकी वजह से दोनों शख्स सीधे कमलेश तिवारी से मिलने पहुंचे। कमलेश तिवारी से उन्होंने करीब आधे घंटे बात की।

सूरत से लिया गया था मिठाई का डिब्बा
भगवा कपड़े पहने हमलावर मिठाई के डिब्बे में चाकू, कट्टा लेकर आए खुर्शीद बाग इलाके में स्थित तिवारी के दफ्तर में घुसे थे। हमलावरों ने मिठाई का डब्बा खोला और गर्दन रेतकर उनकी हत्या कर दी। हमलावरों की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। सीसीटीवी कैमरे में कैद वारदात के मुताबिक हमलावरों ने कमलेश तिवारी की ठोड़ी और सीने में चाकू से 15 से ज्यादा वार किए।