एक्शन में कमलनाथ सरकार, पुजारियों का होगा बीमा, तीर्थ दर्शन स्थल में शामिल होंगी ये जगह

भोपाल: जैसे-जैसे झाबुआ उपचुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे दोनों बड़ी पार्टियां तमाम वादे और दावे कर रही हैं। प्रदेश की कमलनाथ सरकार भी झाबुआ उपचुनाव से पहले एक्शन मोड ड में आ गई है, और लगातार बड़े फैसले ले रही है।  इसी बीच कमलनाथ सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है, सरकार अब पुजारियों का बीमा करवाएगी, और साथ ही मंदिरों के पुजारियों और उनके परिवार के लिए कल्याणकारी योजनाएँ भी चलायी जाएंगी, जिसमें उनके बच्चों की शिक्षा, गंभीर बीमारियों और दुर्घटना होने पर सहायता उपलब्ध करवाना और बीमा कराना शामिल होगा। कमलनाथ सरकार के ये फैसले झाबुआ उपचुनाव के लिए मास्टर स्ट्रोक साबित हो सकते हैं।

सीएम कमलनाथ ने ये सारी बातें मंत्रालय में अध्यात्म विभाग की समीक्षा के दौरान कहीं। कमलनाथ ने कहा कि ‘पुजारियों को तीर्थ-दर्शन यात्रा की सुविधा दी जाएगी और उन्हें गौ-शाला चलाने के लिए भी सहायता प्रदान की जाएगी। मंदिरों से जुड़े जो भी एक्ट हैं, उनमें जरूरतों के हिसाब से आवश्यक बदलाव किए जाएंगे। बैठक में यह भी तय किया गया कि दादाधूनी दरबार के ट्रस्ट को भंग कर नया दादाधूनी दरबार अधिनियम लाया जाएगाट। मुख्यमंत्री ने कहा कि  गुरुनानक जी का 550वां प्रकाश पर्व पूरे मध्यप्रदेश में धूम-धाम से मनाया जाए। इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां की जाए।  यह पर्व देश के आकर्षण का केन्द्र बने, यह हमारा प्रयास होना चाहिए। गुरुनानक देव साहिब के 550वें प्रकाश पर्व पर नानक साहिब से जुड़े देशभर के पांच आस्था वाले स्थानों को मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में जोड़ा जाएगा। ये स्थल नांदेड़, महाराष्ट्र के तख्त सचखंड हुजुर साहिब, पंजाब के आंनदपुर में स्थित केशगढ़ साहिब, पंजाब के बठिंडा में स्थित दमदमा साहिब, हिमाचल प्रदेश के सिरमौर में स्थित पौंटा साहिब और मणिकर्ण साहिब प्रमुख हैं।