अतिथि विद्वानों के लिए BSP विधायक का बड़ा बयान, सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

भोपाल: अकसर अपने तेज तर्रार बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाली BSP विधायक रामबाई ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए बड़ा बयान दिया है। रामबाई ने कहा है कि वो सरकार और अतिथि विद्वानों के बीच मध्यस्थता करेंगी। उन्होंने ऐलान किया कि अतिथि विद्वानों के आंदोलन का पूरा खर्चा बसपा उठाएगी। इस बीच रामबाई ने पंडाल के लिए 5 हजार रुपए पंडाल को देने की भी घोषणा की।

दरअसल अपनी मांगों को लेकर भोपाल में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे अतिथि विद्वानों से मिलने पहुंची बीएसपी विधायक रामबाई ने कहा कि मैं केवल सीएम कमलनाथ पर विश्वास करती हूं। उन्होंने कहा कि नियमितिकरण को लेकर मुख्यमंत्री से चर्चा करूंगी। कांग्रेस में कमलनाथ ही इकलौते ऐसे शख्स है जो कहते हैं उसे वह पूरा करके दिखाते हैं। इस बीच रामबाई ने कहा कि ‘अतिथि विद्वानों के आंदोलन का खर्चा बसपा उठाएगी। रामबाई ने इस दौरान पंडाल के लिए 5 हजार रुपये देने की घोषणा भी की साथ ही उन्होंने जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों को विद्वानों का हाथ ना लगाने की खुली चुनौती भी दे डाली।

बता दें कि प्रदेश भर में अतिथि विद्वान नियमितिकरण को लेकर कमलनाथ सरकार से मांग कर रहे हैं। आंदोलनकारियों का कहना है कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने अपने वचन-पत्र में उन्हें नियमित करने का वाद किया था। आज 10 महीन हो गए लेकिन कोई भी मांगें पूरी नहीं हुई हैं जिसके कारण प्रदेशभर के अतिथि विद्वानों में आक्रोश की स्थिति है। प्रदेशभर में 5200 विद्वान ऐसे हैं जो कि हड़ताल पर हैं।