ट्रेन यात्रियों के लिए अहम खबर, दिल्ली-अंबाला और मुजफ्फरनगर-टपरी रेल खंड रहेगा बाधित

नई दिल्ली। Bad news for train passengers of haryana, up and Delhi: दिल्ली के साथ उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के ट्रेन यात्रियों को अगले कुछ दिन तक असुविधा का सामना करना पड़ेगा।दरअसल, दिल्ली-अंबाला और मुजफ्फरनगर-टपरी रेल खंड पर निर्माण कार्य की वजह से 29 अक्टूबर तक रेल परिचालन बाधित रहेगा। पानीपत-नई दिल्ली पैसेंजर (64466) शुक्रवार व शनिवार को और नई दिल्ली-कुरुक्षेत्र पैसेंजर (64463) शनिवार व रविवार को रद रहेगी। इस दौरान बीच-बीच में ऋषिकेश-पुरानी दिल्ली पैसेंजर (54472), अंबाला-पुरानी दिल्ली पैसेंजर (64562/64561) सहारनपुर तक चलेगी। वहीं, जबलपुर-अटारी एक्सप्रेस, कटड़ा-पुरानी दिल्ली स्पेशल ट्रेन, जम्मूतवी-अजमेर एक्सप्रेस, जम्मूतवी-दिल्ली सराय रोहिल्ला एक्सप्रेस, इंदौर-देहरादून एक्सप्रेस, उज्जैन-देहरादून एक्सप्रेस, कालका-दिल्ली पैसेंजर विलंब से चलेंगी।

सहयात्री एप व जीआरपी की वेबसाइट लॉन्च

वहीं, बृहस्पतिवार को रेल यात्रियों की सुविधा के लिए जीआरपी की वेबसाइट और सहयात्री मोबाइल ऐप लॉन्चकिया गया। एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने वेबसाइट और एप लांच किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस एप के जरिये रेल यात्री किसी भी समय अपने साथ हुए अपराध की एफआइआर चलती हुई ट्रेन से दर्ज करा सकेंगे। वहीं अपनी शिकायत और सुझाव भी एप के जरिये दे सकेंगे। वहीं जीआरपी की वेबसाइट से लोगों को रेलवे के संबंध में जानकारियों मिलने के साथ अधिकारियों को रेल में अपराध करने वाले बदमाशों के बारे में जानकारी मिल सकेगी, जिससे अपराध पर अंकुश लगाकर रेल यात्रा को सुरक्षित बनाया जा सकेगा।

जानिए, इसके बारे में

  • 24 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के जीआरपी प्रमुखों को वेबसाइट का सुपर एडमिन बनाया गया है।
  • इनको अलग-अलग उपयोगकर्ता आइडी व पासवर्ड दिए गए हैं। जिससे अपराधियों के आपराधिक डेटा बेस को पूरे भारत में रेलवे के क्षेत्रधिकार में देखा जा सकेगा।
  • डकैत, लुटेरों, झपटमार, बैग उठाने वाले, जेबतराश, नशीले पदार्थो के तस्कर और बच्चा चोरी करने वाले बदमाशों की तस्वीर और गिरोह के सदस्यों के बारे में सभी राज्यों की जीआरपी को जानकारी मिल सकेगी।
  • इसके अलावा, अज्ञात शव, लापता व्यक्ति, वांछित अपराधी, फरार व घोषित अपराधी और अन्य महत्वपूर्ण मामले, कानून और व्यवस्था से संबंधित मुद्दों का विवरण भी साझा किया जा सकेगा।
  • प्रमुख घटना व महत्वपूर्ण सूचनाओं के साथ यात्रियों की भीड़, प्रदर्शन, विरोध, बंद, त्योहार का मौसम या किसी भी दुर्घटना की सूचना भी एक साथ सभी राज्यों की जीआरपी को दी जा सकेगी।
  • जीआरपी की वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है। जिसे एंड्रॉइड और आइओएस के लिए हाइब्रिड एप्लिकेशन में भी विकसित किया गया है।
  • यह वेबसाइट एसएसएल (सिक्योर सॉकेट लेयर) के साथ भी सुरक्षित है। वेबसाइट अंग्रेजी और हिंदी में होने के साथ इसे दृष्टिबाधित व्यक्तियों के लिए भी तैयार किया गया है।
  • वेबसाइट के सभी पृष्ठों से वन टच के साथ हिम्मत प्लस, तत्पर और सहयात्री जैसे एप भी दिखाई देंगे।
  • इस वेबसाइट से दिल्ली जीआरपी पुलिस स्टेशन के जियो टैगिंग के साथ 30 सेवाओं की जानकारी मिलेगी। शिकायत व एफआइआर करने के लिंक के साथ टैक्सी व ऑटो के विवरण भी मिलेंगे।
  • मोबाइल एप सहयात्री को किसी भी मोबाइल फोन पर चलाया जा सकेगा।
  • रेल यात्रियों के लिए इसका हाइब्रिड एप्लिकेशन विशेष रूप से डिजाइन किया गया है ताकि संबंधित पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र और जीआरपी अधिकारियों के विवरणों को गूगल मैप के साथ जियो-टैगिंग द्वारा पता लगाया जा सके।
  • इसके अलावा, एप में क्यूआर कोड को स्कैन करने और एक आपातकालीन कॉल करने की सुविधा भी होगी।