अंतरराज्यीय गिरोह में ग्वालियर का नगर सुरक्षा समिति का सदस्य शामिल, मथुरा में भी कर चुके वारदात

भिंड: एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने मामले का किया खुलासा।भिंड के गोहद थाना क्षेत्र में बर्तन व्यापारी के घर लूट व बेटी की हत्या करने के बाद फरार मुख्य आरोपियों की तलाश अभी अूधरी है। पुलिस मुख्य आरोपियों तक नहीं पहुंच सकी है। पुलिस ने घटना का मास्टरमाइंड ज्वेलर्स व उसके सहयोगी बदमाश को पकड़ लिया। ये वाहन लूट की वारदात को अंजाम देते थे। अब वे घरों में घुसकर लूट व हत्या करने लगे हैं। व्यापारी के घर हुई वारदात का मास्टरमाइंड पड़ोसी ज्वेलर्स निकाला। ज्यादा पैसा कमाने के फेर ज्वेलर्स ने व्यापारी के घर वारदात को अंजाम दिलाया।14 अगस्त को हुई थी वारदातभिंड के गोहद कस्बे के प्रतिष्ठित बर्तन व्यापारी रामकुमार गोयल (उम्र-70 साल) निवासी वार्ड क्रमांक 11 गोहद के घर 14 अगस्त की शाम को तीन अज्ञात बदमाश आए थे। जिनमें दो बदमाशों ने पुलिस की वर्दी में तथा एक सादा कपड़ों में घर के अंदर घुसे, घर में रामकुमार गोयल तथा उसकी लड़की रिंकी थी। तीनों बदमाशों ने घर में घुस कर रामकुमार गोयल से उसके लड़के लक्की के बारे में पूछा की । दोनों को घर के अंदर ले गए और रामकुमार तथा उसकी लड़की के हाथ पैर बांध के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया व घर में रखे लाखों की नकदी व सोने चांदी के आभूषण लूट कर ले गए। घटना के कुछ समय पश्चात पड़ोसियों की मदद से रामकुमार को मुक्त कराया। बदमाशों ने पुत्री रिंकी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इस घटना में पुलिस लगातार बदमाशों की तलाश में जुटी थी।ज्वेलर्स ने बुलाए थे लुटेरेइस पूरी वारदात में ज्वेलर्स रामू उर्फ उर्फ रामानन्द सोनी है। ज्वेलर्स का लेन-देन बर्तन व्यापारी से चलता था। ज्वेलर्स का दोस्त बर्तन व्यापारी का लड़का लकी भी था। ज्वेलर्स रामू ने अपना कर्ज उतारने के लिए कमली गुर्जर पुत्र सुजान सिंह गुर्जर निवासी ग्राम बनीपुरा के साथ लूट की रणनीति तैयार की। कमली वाहन चाेर की घटना घटित कर चुका है। ज्वेलर्स ने बाहर की टीम बुलाने के लिए कमली से कहा। लूट की घटना को अंजाम की रणनीति बनाई।इन बदमाशों की तलाशभिंड पुलिस ने घटना के बाद छह पुलिस टीमें बनाई। इन टीमों ने छतरपुर, ग्वालियर, शिवपुर, करैरार, धौलपुर, मुरैना, मथुरा, हरियाणा समेत कई शहरों में दबिश दी। इन बदमाशों में योगेश बैसला पलवल हरियााणा का रहने वाला है। वह ग्वालियर में छिपकर रह रहा था। वहीं, बृजेश कौशल ग्वालियर का रहने वाला है। वह मुरार में नगर रक्षा समिति का सदस्य रह चुका है। अब तक कि पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि ये बदमाशों को पुलिस की ड्रेस उपलब्ध कराता था। इसका एक साथी बालेन्द्र सिंह गुर्जर है, जो कि गोहद व ग्वालियर में रहता है। ये सभी पुलिस की ड्रेस पहनकर वाहन चोरी व लूट की घटना को अंजाम देते आए हैं। इन बदमाशों ने करीब कुछ महीने पहले मथुरा में फॉरच्यूनर कार को लूटा था।भिंड एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान व एएसपी कमलेश कुमार ने मामले को ट्रेस करने में दिन रात मेहनत की। मामला पूरा खुल गया है, परंतु मुख्य तीनों आरोपी फरार है। इस घटना में रामू सोनी व उसका सहयोगी कमली गुर्जर पकड़ा गया है। जिनसे लूट का माल भी बरामद हुआ है। परंतु पूरा माल अब तक पुलिस के हाथ नहीं आया है। इस घटना सराहनीय भूमिका एसडीओपी गोहद सौरभ कुमार, निरीक्षक राजेश सातनकर, निरीक्षक रविन्द्र शर्मा, निरीक्षक संजीव तिवारी, निरीक्षक वरुण तिवारी उप निरीक्षक शिवप्रताप सिंह शामिल था।