ताइवान ने एशिया की पहले सामूहिक समलैंगगिक विवाह का जश्न मनाया

ताइपे: समलैंगिक विवाह की मंजूरी पाने वाले एशिया के पहले देश ताइवान की राजधानी तइपे में 24 मई को लगभग 20 समलैंगिक जोड़ों ने घरेलू पंजीकरण कार्यालय में आधिकारिक तौर पर अपनी शादी को पंजीकृत किया। पिछले ही हफ्ते ताइवान ने समलैंगिक विवाह को आधिकारिक रूप से मान्यता दी, जिसके बाद ऐसा करने वाला वह एशिया का पहला देश बन गया। यहां समलैंगिक जोड़ों के सामूहिक विवाह का बड़ा जश्न मनाया गया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

केंद्रीय समाचार एजेंसी ने बताया कि पिछले 12 सालों से रिश्ते में एक साथ रह रहे दो समलैंगिक व्यक्ति ऐसी शादी करने वाले पहला जोड़ा बने। पहली बार जब ताइवान में समलैंगिक गौरव ध्वज फहराया गया था उस समय को याद करते हुए हसिओ हसुआन ने कहा, “ताइवान में समलैंगिक होना आसान नहीं रहा।

मैं खुद को भाग्यशाली महसूस करता हूं क्योंकि मुझे अपने दोस्तों, परिवार और मेरे साथी का पूरा समर्थन मिला।” उसने आगे कहा, “मैंने परेड के दौरान एक इंद्रधनुषी झंडा लहराया, लेकिन मैं अपने घर के रास्ते पर इसे ले जाने से बहुत डरता रहा था।”

56 वर्षीय लिपिन झी के लिए यह एक लंबा इंतजार रहा। वह पिछले 36 साल से अपने साथी के साथ हैं। एफे न्यूज के अनुसार, यू या-टिंग और हुआंग मेई-यू नाम का एक और समलैंगिक जोड़ा अपने विवाह को पंजीकृत कराने के बाद काफी खुश नजर आया।उन्होंने बताया कि यह एक लंबी चौड़ी कानूनी प्रक्रिया रही।

हुआंग ने कहा, “हमारी पहली शादी 2012 में हुई थी और आज हमारी दूसरी शादी हुई है। अब हमें न केवल भगवान का बल्कि अपने परिजनों और समाज के लोगों का भी आर्शीवाद मिला है.” पिछले शुक्रवार को ताइवान की संसद ने विरोध में 27 और पक्ष में 66 मतों को डाल कर इतिहास रचते हुए समलैंगिक विवाहों को कानूनी रूप से मान्यता देने का फैसला किया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.