राहुल के टूर पर कांग्रेस की सफाई- पर्सनल को पब्लिक लाइफ से ना मिलाएं

नई दिल्लीः विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के विदेश यात्रा पर जाने संबंधी खबरों की पृष्ठभूमि में पार्टी ने सोमवार को कहा कि भारतीय लोकतंत्र में सार्वजनिक एवं व्यक्तिगत जीवन में अंतर करने की परंपरा रही है और ऐसे में सभी को इसका सम्मान करना चाहिए। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव प्रणव झा ने यह आरोप भी लगाया कि कुछ लोगों ने अपनी शक्तियों का दुरुपयोग करके गांधी के विदेश जाने संबंधी खबरों को लेकर विवाद पैदा करने की कोशिश की है।

एसपीजी से जुड़े नियमों में बदलाव संबंधी खबरों को लेकर झा ने कहा कि इस बारे में सरकार की तरफ से लिखित जानकारी मिलने के बाद ही कांग्रेस आधिकारिक रूप से कोई टिप्पणी करेगी। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारतीय लोकतांत्रिक परंपराओं में सार्वजनिक और व्यक्तिगत जीवन में हमेशा अंतर रखा गया है। व्यक्तिगत स्वतंत्रता का सम्मान हमेशा होता रहा है। ये बात उन सभी के लिए लिए है जिन्होंने सूत्रों का हवाला देकर विवाद पैदा करने की कोशिश है।”

झा ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र की इस परंपरा का उन व्यक्तियों और संस्थाओं को भी सम्मान करना चाहिए, जो अपनी शक्तियों का दुरुपयोग करके नेताओं की यात्राओं को सार्वजनिक करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने राहुल गांधी की कथित विदेश यात्रा पर टिप्पणी करने वालों पर तंज कसते हुए कहा, ‘‘ प्रगतिशील लोकतंत्र और उदार लोकतंत्र रातोंरात नहीं बनता। हम और आप ऊपर वाले की कठपुतली हो सकते हैं, लेकिन नीचे वाले की बन जाएं तो भगवान ही मालिक है।”

इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने रविवार को ट्वीट करके कहा, ‘‘किसी इंसान के व्यक्तिगत जीवन को उसके सार्वजनिक जीवन से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। हमें हर किसी की निजता और आजादी की भावना का सम्मान करना चाहिए। आखिरकार यही तो एक प्रगतिशील और उदार लोकतंत्र की पहचान है।”
PunjabKesari
यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार एसपीजी से जुड़े नियमों में बदलाव कर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की जासूसी की कोशिश कर रही है तो झा ने कहा, ‘‘ यह संवेदनशील मुद्दा है। हम किसी एक अखबार में छपी खबर पर प्रतिक्रिया नहीं देंगे। हमारे नेताओं तक कोई लिखित जानकारी आएगी, तब कोई प्रतिक्रिया दी जाएगी।”