सिंधिया के गढ़ में हैवानियत की हदें पार, लाइनमैन के फरसे से दोनों हाथ काटे

गुना: जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां बिजली वितरण कंपनी के लाइनमैन ने मेंटेनेंस के लिए लाइट बंद की कुछ लोगों ने उसके फरसे से दोनों हाथ के पंजे काट दिए। जैसे ही यह खबर साथियों को पता चली वे आनन-फानन में लाइनमैन को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां उसका इलाज चल रहा है।  घटना के बाद से ही इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। वही पुलिस ने दोनों आरोपितों पर शासकीय कार्य में बाधा और मारपीट का केस दर्ज किया है।

ये है पूरा घटनाक्रम
घटना आरोन थाना क्षेत्र के आंखखेड़ा गांव की है। यहां लाइनमैन रामबाबू पुत्र चंपालाल माहौर ने सोमवार को बिजली लाइन के मेंटेनेंस के लिए परमिट लिया था। इसके चलते वह गुना से आई टीम के साथ गांव पहुंचा और बिजली की सप्लाई बंद करा दी। थोड़ी देर बाद गांव के लाखन सिंह धाकड़ और गुलाब सिंह धाकड़ लाइनमैन से मिलने पहुंचे और कहा कि, उनके घर तिलक फलदान कार्यक्रम चल रहा है और आपने लाइट बंद कर दी, लाइट चालू कर दीजिए।इस पर रामबाबू ने कहा कि आप सुबह आवेदन देते तो मैं परमिट नहीं लेता। लेकिन अब मैं बीच में ऐसे लाइन चालू नहीं कर सकता।

इस दौरान दोनों के बीच बहस होने लगी और विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ी की गुस्साए लाखन व गुलाब सिंह ने उस पर फरसे से हमला कर उसके दोनों हाथ के पंजे काट दिए। सूचना मिलते ही लाइनमैन के साथी मौके पर पहुंचे और उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया। वही सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और दोनों आरोपितों पर शासकीय कार्य में बाधा और मारपीट का केस दर्ज किया है।