Balakot Air Strike को अंजाम देने वाली स्क्वाड्रन को वायुसेना प्रमुख करेंगे सम्‍मानित

नई दिल्‍ली। वायुसेना बालाकोट एयर स्‍ट्राइक (Balakot aerial strikes) के बाद पाकिस्‍तानी विमानों के हमले को विफल करने वाले जांबाज पायलटों की स्कवॉड्रनों को सम्‍मानित करेगी। जिन स्कवॉड्रनों को सम्‍मानित किया जाएगा उनमें विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान (Wing Cdr Abhinandan Varthaman) की 51वीं स्क्वॉड्रन और बालाकोट में एयर स्‍ट्राइक को अंजाम देने वाले मिराज-2000 लड़ाकू विमानों की स्क्वॉड्रन नंबर 9 शामिल हैं। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया (Air Chief Marshal RKS Bhadauria) इन्‍हें प्रशस्ति पत्र देंगे।

ANI

@ANI

The number 9 squadron whose Mirage 2000 fighter aircraft carried out the Balakot aerial strikes on February 26 during ‘Operation Bandar’, also to be awarded unit citation. https://twitter.com/ANI/status/1180694732839636993 

ANI

@ANI

Wing Cdr Abhinandan Varthaman’s 51 Squadron to be awarded unit citation by IAF Chief Air Chief Marshal RKS Bhadauria for thwarting Pakistani aerial attack&shooting down a Pakistani F-16 on Feb 27. Award to be received by commanding officer Group Captain Satish Pawar (file pic)

View image on Twitter
78 people are talking about this
समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की 51वीं स्क्वॉड्रन को यह पुरस्‍कार पाकिस्‍तान के एक एफ-16 विमान को मार गिराने और उसके हवाई हमले को नाकाम करने के लिए सम्‍मानित किया जाएगा। इस अवार्ड को कमांडिंग आफ‍िसर ग्रुप कैप्‍टन सतीश पवार ग्रहण करेंगे। यही नहीं बालाकोट एयर स्‍ट्राइक (Balakot aerial strikes) को अंजाम देने वाली मिराज 2000 विमानों (Mirage 2000 fighter aircraft) की नौवीं स्क्वाड्रन (number 9 squadron) को सम्‍मानित किया जाएगा।

बता दें कि बीते 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसमें पाकिस्‍तानी आतंकी संगठनों का हाथ पाया गया था। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने 27 फरवरी को पाकिस्‍तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्‍मद के सबसे बड़े आतंकी ठिकाने पर एयर स्‍ट्राइक की थी। इस एयर स्‍ट्राइक को मिराज 2000 विमानों (Mirage 2000 fighter aircraft) की नौवीं स्‍क्वाडर्न (number 9 squadron) ने अंजाम दिया था। इस एयर स्‍ट्राइक में आतंकियों का यह ठिकाना ध्‍वस्‍ता हो गया था। रिपोर्टों के मुताबिक, भारत की इस कार्रवाई में बड़ी संख्‍या में आतंकी भी मारे गए थे।

भारतीय एयर फोर्स की इस ऐतिहासिक और निर्णायक कार्रवाई के बाद पाकिस्‍तानी फौज में खलबली मच गई थी। इसके बाद बौखलाई पाकिस्‍तानी एयर फोर्स ने अपने एफ-16 विमानों को भारतीय क्षेत्र में बमबारी के मकसद से भेजा था। फ‍िर भारतीय वायुसेना के विमानों ने पाकिस्‍तानी एयरफोर्स के मंसूबों को नाकाम कर दिया था। भारतीय एयर फोर्स की 51वीं स्क्वाड्रन (51 Squadron) के जांबाज पायलट अभिनंदन वर्तमान ने पाकिस्‍तानी विमानों का पीछा करते हुए उनमें से एक एफ-16 फाइटर प्लेन को मार गिराया था। हालांकि, इस कोशिश में वह सीमा पार करके पाकिस्‍तानी क्षेत्र में प्रवेश कर गए थे।

पाकिस्‍तानी क्षेत्र में भारतीय पायलट अभ‍िनंदन वर्तमान का मिग बाइसन विमान क्रैश हो गया था और उन्‍हें पाकिस्‍तानी फौज के जवानों ने पकड़ लिया था। इसके बाद भारत ने पाकिस्‍तान से दो-टूक कहा था कि भारतीय पायलट को तुरंत रिहा करे। चौतरफा अंतरराष्‍ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्‍तान ने भारतीय पायलट को वापस लौटाया था। रिपोर्टों के मुताबिक, जिस समय अभ‍िनंदन अपने विमान से पाकिस्‍तानी विमानों का पीछा कर रहे थे। कंट्रोल रूम (601 Signal unit) में बैठीं स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल उन्‍हें निर्देश दे रही थीं। बता दें कि 601वीं सिग्नल यूनिट ने ही बालाकोट में ‘ऑपरेशन बंदर’ (Operation Bandar) को अंजाम देने वाले विमानों को भी निर्देश दिया था।