जाने लस्सी सेवन के नुकसान

गर्मियों के मौसम में तन और मन को ठंडा करने के लिए लस्सी का सेवन किया जाता है। लस्सी पीने में जितनी स्वादिष्ट होती है, सेहत के लिए भी उनती ही फायदेमंद मानी जाती है। इसका सेवन त्वचा के लिए, बालों के लिए, एसिडिटी में, कब्ज दूर करने, वजन कम करने और हड्डियां मजबूत करने आदि में लाभकारी माना जाता है। छाछ में कार्बोहाइड्रेट, कई तरह के विटामिन्स, प्रोटीन, पोटैशियम, फॉस्फोरस, गुड बैक्टीरिया, लैक्टिक एसिड, कैल्शियम आदि मौजूद होते हैं

लस्सी बनाने में चीनी का इस्तेमाल भी किया जाता है। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो ज्यादा लस्सी का सेवन आपके रोग को बढ़ा सकता है।
छाछ में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो किडनी रोग से ग्रस्त लोगों के लिए इसका अधिक सेवन ठीक नहीं है। अगर आप किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं, तो इसे पीने से बचें।
रात के समय लस्सी पीने से यह सही से पच नहीं पाता है, जिसके कारण वजन बढ़ने की परेशानी होने लगती है। इसके अलावा लस्सी में विटामिंस, खनिज, प्रोटीन और फैट भी होता है। साथ ही इसमें शुगर भी होता है। ऐसे में अगर आप इसका रात के समय सेवन करते हैं, तो आपका वजन बढ़ सकता है। इसलिए अगर आप अपने वजन को कंट्रोल में रखना चाह रहे हैं, तो रात में लस्सी के सेवन से बचे रहें।
जिन लोगों को एग्जिमा की समस्या होती है, उन्हें भी छाछ का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए। इससे त्वचा पर जलन, खुजली की समस्या तीव्र हो सकती है।
अगर आप रात के समय दही का सेवन करते हैं, तो इससे आपके शरीर में म्यूकस अधिक बनने लगता है। जिसके कारण सर्दी, जुकाम और गले में खराश जैसी परेशानी होने लगती है। सर्दी जुकाम की परेशानी से बचने के लिए रात में लस्सी पीने से बचें।
रात के वक्त लस्सी पीने से पाचन तंत्र प्रभावित होता है, जिसके कारण आपको उल्टी की भी समस्या हो सकती है। इसलिए अगर आप इस समस्या से बचना चाहते हैं, तो रात के समय लस्सी पीने से बचे रहें।
रात में लस्सी पीने से डायजेशन सिस्टम काफी धीमा हो जाता है, जिसके कारण कब्ज की शिकायत हो सकती है।