खत्म हुई आदर्श आचार संहिता, अब प्रदेश में रफ्तार पकड़ेंगे प्रशासनिक कार्य

भोपाल: सत्रहवीं लोकसभा और चार राज्यों में विधानसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा के मद्देनजर चुनाव से पहले लागू की गई आदर्श आचार संहिता हटा ली गई है। चुनाव आयोग ने कैबिनेट सचिव, राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा निर्वाचन अधिकारियों को पत्र लिख कर यह जानकारी दी। आचार संहिता हटते ही सारे सरकारी कार्यों में तेजी आने की संभावना है। विशेष रूप से मप्र में किसानों की ऋण माफी के दूसरे चरण का काम शुरू हो सकता है।

लोकसभा और चार राज्यों आन्ध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में विधान सभा चुनाव तथा कुछ उप चुनावों को देखते हुए आदर्श चुनाव आचार संहिता के प्रावधान लागू किए गए थे। जिसकी घोषणा 10 मार्च को की गई थी। जिसके बाद प्रदेश में नए कार्य की स्वीकृति सहित अन्य निर्माण कार्यों, शिलान्यास, भूमिपूजन पर रोक लग गई थी। चुनावों के बाद गत 23 मई को मतगणना पश्चात परिणामों की घोषणा की गई थी। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शनिवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को सत्रहवीं लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची सौंप दी थी और रविवार को आदर्श आचार संहिता हटा ली गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.