दो फाड़ हुई कांग्रेस, सिंधिया को डिप्टी सीएम व प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग हुई तेज

भोपाल: प्रदेश में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन व करारी हार के बाद केंद्रीय नेतृत्व नाखुश है। प्रदेश की बिगड़ी स्थिती को सुधारने के लिए एक बार फिर उप मुख्यमंत्री के फॉर्मूले की मांग तेज हो गईं हैं। जिसके चलते शीर्ष नेतृत्व राजस्थान की तरह प्रदेश में भी उप मुख्यमंत्री बनाने की अटकले तेज हो गई है। जिसके लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम एक बार फिर सुर्खियों में हैं। लोग मांग कर रहे हैं कि सिंधिया को प्रदेश की कमान दी जाना चाहिए। या फिर उन्हें उप मुख्यमंत्री बनाया जाए।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सत्ता वापसी के बाद भी कमलनाथ और सिंधिया दोनों नेताओं को बतौर सीएम और डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा थी लेकिन सिंधिया इसके लिए राजी नहीं हुए। जिसके बाद कमलनाथ को सीएम बनाया गया। अब लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद संगठन स्तर पर भी बदलाव की अटकलें लगाई जा रही हैं।

सिधिंया को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग हुई तेज
वहीं दूसरी कमलनाथ में मंत्री इमरती देवी और जीतू पटवारी के बाद अब कांग्रेस सचिव ने भी सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष की कमान सौंपे जाने की बात कही है। इसके लिए उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र भी लिखा है और चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाओ वरना सभी पदाधिकारी इस्तीफा दे देंगें।

कांग्रेस सचिव विकास यादव  ने राहुल गांधी को पत्र लिखा है और कहा है कि सरकार में पार्टी कार्यकर्ताओं की नहीं चल रही है, इसलिए लोकसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है।  मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष दो पद एक ही व्यक्ति के पास है, ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं की बात नहीं सुनी जाती है और कार्यकर्ताओं में नाराजगी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.