कुमारस्वामी ने JDS नेताओं को मीडिया से दूर रहने को कहा, वरिष्ठ पत्रकार के खिलाफ FIR दर्ज

बेंगलुरुः कर्नाटक में जनता दल (सेक्युलर) की 2019 के लोकसभा चुनाव में करारी हार हुई है। इतना ही नहीं पार्टी के संरक्षक और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा भी तुमकुर लोकसभा सीट से चुनाव हार गए। वहीं अब मौजूदा कुमारस्वामी सरकार पर भी खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी तानाशाही पर उतर आए हैं। कुमारस्वामी ने जाने-माने पत्रकार विश्वेश्वर भट के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। विश्वेश्वर भट के खिलाफ यह एफआईआर  कुमारस्वामी के बेटे के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए करवाई गई है।

पत्रकार विश्वेश्वर भट के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर कुमारस्वामी का विरोध हो रहा है। लोगों ने ट्विटर पर भड़ास निकालते हुए कहा कि कुमारस्वामी सरकार की यह हरकत  इस देश के संवैधानिक मूल्यों और लोकतंत्र का अपमान है। बता दें कि इससे पहले रविवार को कुमारस्वामी ने अपने प्रवक्ताओं, नेताओं और विधायकों को किसी भी टीवी चैनल की डिबेट में हिस्सा लेने या मीडिया में किसी भी तरह का बयान जारी करने पर प्रतिबंध लगाया। जेडीएस के कार्यकारी अध्यक्ष एमएस नारायणराव की तरफ से जारी किए गए सर्कुलर में कहा गया कि पार्टी का कोई भी नेता, प्रवक्ता और विधायक टीवी डिबेट में हिस्सा नहीं लेगा न ही मीडिया में कोई बयान देगा।

सर्कुलर में कहा गया कि पार्टी की तरफ से जो भी डिबेट में कहा जा रहा है या फिर मीडिया में बयान दिया जा रहा है उसे तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। बता दें कि पिछले हफ्ते कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी अपने राज्य में टेलीविजन मीडिया और पत्रकारों पर भड़क गए थे। उन्होंने आरोप लगाया था कि उनके नाम पर गैर-जिम्मेदाराना रिपोर्टिंग की जा रही है। कुमारस्वामी ने कहा था कि हर दिन, लोग विभिन्न समस्याएं लेकर मेरे पास आते हैं, मैं उनकी मदद भी करता हूं। लेकिन मीडिया लोगों की उचित समस्याओं को दिखाने की बजाए सनसनीखेज झूठी कहानियों पर ध्यान केंद्रित करना चाहता है। क्या आपको लगता है कि सरकार चुप रहेगी? उन्होंने कहा कि सरकार एक कानून बनाने पर विचार कर रही है ताकि गैर-जिम्मेदाराना रिपोर्टिंग पर कुछ नियंत्रण लगाया जा सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.